250+ Love Quotes In Hindi | लव कोट्स हिंदी में

दिल से हर विशेष कार्य को शीर्ष पर होने या गुब्बारे या वेलेंटाइन डे उपहार के साथ आने की आवश्यकता नहीं है । कभी-कभी, सच्चे वैलेंटाइन डे के पत्र या कार्ड में शब्दों के साथ एक ईमानदार भावना सबसे अच्छी तरह व्यक्त की जाती है। और जबकि महिलाएं अक्सर फूलों की प्राप्तकर्ता होती हैं और रोमांटिक कविताओं के विषय होते हैं, कोई कारण नहीं है कि आपका प्रेमी, पति या पुरुष साथी भी रोमांटिक इशारे के अंत में होना चाहिए। (हम एक रोमांटिक, आरामदेह नेटफ्लिक्स घड़ी के बड़े प्रशंसक हैं!)

लेकिन अगर आपके पास इस समय एक टन ऊर्जा नहीं है (हम समझते हैं), तो हम उसके लिए इन सबसे अच्छे प्रेम उद्धरणों की मदद के लिए यहां हैं। कुछ प्रेम उद्धरण ज़ोर से पढ़ें। कुछ क्लासिक देशी प्रेम गीतों को बेल्ट करें । शादी के कुछ उद्धरणों के साथ उस दिन को फिर से जीएं जब आपकी मंगेतर बनीं । उसके लिए विशेष रूप से चुने गए ज्ञान के इन शब्दों को साझा करें, और आप श्रीमान के साथ फिर से प्यार करने के लिए तैयार होंगे। जब जीवन कठिन हो जाए, तो एक दूसरे से प्यार करना याद रखें। ये प्यारे प्रेम उद्धरण उन सभी प्रेरणाओं से भरे हुए हैं जिन्हें आपको अपने दिल में भावनाओं को व्यक्त करने की आवश्यकता हो सकती है जिसे आप प्यार करते हैं।

प्यार एक जादुई चीज है, और अगर आप उसके लिए सबसे अच्छे प्रेम उद्धरण ढूंढ रहे हैं, तो ये हैं।

इन खूबसूरत आई लव यू कोट्स के साथ उसे स्नेह और प्रशंसा के साथ स्नान करें जो सीधे आपकी महिला के दिल के लिए शूट करेगा।

नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में उसके लिए अपना पसंदीदा प्यार उद्धरण हमारे साथ साझा करें।

जिस तरह रगों में खून रहता है,
इस तरह तेरी चाहत का जुनून रहता है,
ज़िंदगी की हर ख़ुशी मंसूब है तुमसे,
बात हो तुमसे तो दिल को सुकून रहता है।

प्यार का कोई रंग नहीं फिर भी वो रंगीन है,
इसका कोई चेहरा नहीं फिर भी वो हसीन हैं।

हम फिर उनके रूठ जाने पर फ़िदा होने लगे,
हमें फिर प्यार आ गया जब वो ख़फ़ा होने लगे।

जब किसी की रूह में उतर जाता है मोहब्बत का समंदर,
तब लोग जिन्दा तो होते हैं, लेकिन किसी और के अंदर।

बहुत सुकून मिलता है जब उनसे हमारी बात होती है,
वो हजारो रातों में वो एक रात होती है,
जब निगाहें उठा कर देखते हैं वो मेरी तरफ,
तब वो ही पल मेरे लीये पूरी कायनात होती है।

मत पूछ ये की मैं तुझे भुला नहीं सकता
तेरी यादों के पन्ने को मैं जला नहीं सकता
संघर्ष यह है कि खुद को मारना होगा
और अपने सुकून की खातिर तुझे रुला नहीं सकता

दुनिया को आग लगाने की ज़रूरत नहीं
तो मेरे साथ चसल आग खुद लग जाएगी

तरस गये है हम तेरे मुंह से कुछ सुनने को हम
प्यार की बात न सही कोई शिकायत ही कर दे

तुम नहीं हो पास मगर तन्हाँ रात वही है
वही है चाहत यादों की बरसात वही है
हर खुशी भी दूर है मेरे आशियाने से
खामोश लम्हों में दर्द-ए-हालात वही है

करने लगे जब शिकवा उससे उसकी बेवफाई का
रख कर होंट को होंट से खामोश कर दिया

नहीं है अब कोई जुस्तजू इस दिल में ए सनम, मेरी पहली और आखिरी आरज़ू बस तुम हो।

अपनी कलम से दिल से दिल तक की बात करते हो सीधे सीधे कह क्यों नहीं देते हम से प्यार करते हो।

हमें सीने से लगाकर हमारी सारी कसक दूर कर दो, हम सिर्फ तुम्हारे हो जाऐ हमें इतना मजबूर कर दो।

नज़रे करम मुझ पर इतना न कर, की तेरी मोहब्बत के लिए बागी हो जाऊं, मुझे इतना न पिला इश्क़-ए-जाम की, मैं इश्क़ के जहर का आदि हो जाऊं।

होती नहीं है मोहब्बत सूरत से,
मोहब्बत तो दिल से होती है,
सूरत उनकी खुद-ब-खुद लगती है प्यारी,
कदर जिनकी दिल में होती है..

नजाकत ले के आँखों में,
वो उनका देखना तौबा,
या खुदा हम उन्हें देखें
कि उनका देखना देखें

शिकवा करने गए थे, और
इबादत सी हो गयी।
तुझे भूलने की जिद्द थी,
मगर तेरी आदत सी हो गयी

ये जिंदगी कितनी खूबसूरत है,
बस अब आप आइये आपकी ही जरूरत है।

दिल की आवाज़ को इज़हार कहते हैं,
झुकी हुयी निगाह को इकरार कहते हैं,
सिर्फ पाने का नाम ही इश्क नहीं,
कुछ खोने को भी प्यार कहते हैं।

हाल तो पूछ लूँ तेरा पर डरता हूँ आवाज़ से तेरी,
जब जब सुनी है कमबख्त मोहब्बत ही हुई है।

कुछ लिख नहीं पाते कुछ सुना नहीं पाते,
हाल-ए-दिल जुबान पर ला नहीं पाते,
वो उतर गए हैं दिल की गहराइयों में,
वो समझ नहीं पाते और हम समझा नहीं पाते।

दो चार लफ्ज़ प्यार के लेकर हम क्या करेंगे,
देनी है तो वफ़ा की मुकम्मल किताब दे दो।

किसी न किसी को किसी पर एतवार हो जाता है,
एक अजनबी सा चेहरा ही यार हो जाता है,
खूबियों से ही नही होती मोहब्बत सदा,
किसी की कमियों से भी कभी प्यार हो जाता है।

कुछ लोगो की मोहब्बत दिल में इस कदर उतर जाती है,
जब उन्हें दिल से निकालो तो जान निकल जाती है।

जिंदगी में कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
जिंदगी में कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
जो है पास आपके उसको सम्भाल कर रखना,
क्योंकि एक बार खोकर प्यार दोबारा नही मिलता।

वो आँखों से अपनी शरारत करते हैं
वो अपनी अदाओं से कयामत करतें हैं।
हमारी निगाहें उनके चहरे से हठतीं नही,
और वो हमारी निगाहों की शिकायत करतें हैं।

इस नजर ने उस नजर से बात करली,
रहे खामोश मगर फिर भी बात करली,
जब मोहब्बत की फ़िज़ा को खुश पाया,
तो दोनों निगाहों ने रो रो कर बरसात करली।

अगर तुम्हे याद करने का कोई मीटर भी होता तो सबसे ज्यादा बिल मेरा ही आता

अगर तुम्हे याद करने का कोई मीटर भी होता तो सबसे ज्यादा बिल मेरा ही आता

कितने भी पल गुज़ार लू तेरी बाहों में ओ यारा, मगर सांस फिर भी कहती है कि दिल अभी भरा नहीं

कुछ लम्हे गुज़ार लिया करो हमारे साथ भी, दिल उदास रहता है जब तुमसे बात नहीं होती

काश ये दिन रोज़ आये, आँखें खोलूं और तेरा चेहरा नज़र आए

तुमसे प्यार किया है दिल से निभाएंगे, जब तक जान है तुमको ही चाहेंगे

न जाने कोनसा विटामिन है तेरे अन्दर, कमजोरी सी लगने लगती है, जिस दिन तुझसे न मिलूँ

दिल पर आये इल्ज़ाम से पहचानते हैं,
अब लोग तो मुझे तेरे नाम से पहचानते हैं।

तेरी खैरियत का ही जिक्र रहता है दुआओं में,
मसला सिर्फ मोहब्बत का ही नही फिक्र का भी है.!

आप दिल से दूर हैं और पास भी,
आप लवो की हँसी हो, और आँसू भी,
आप दिल का सुकून हो,और बेचैनी भी,
आप हमारी अमानत हो,और एक सपना भी।

किसी न किसी को किसी पर एतवार हो जाता है,
एक अजनबी सा चेहरा ही यार हो जाता है,
खूबियों से ही नही होती मोहब्बत सदा,
किसी की कमियों से भी कभी प्यार हो जाता है।

अपना तो चाहतों में बस यही उसूल है,
जब तू कबूल है तो तेरा सब कुछ कबूल है।

आँखें तो प्यार में दिल की ज़ुबान होती है,
सच्ची चाहत तो सदा बे-ज़ुबान होती है,
प्यार में दर्द भी मिले तो क्या घबराना,
सुना है दर्द से ही चाहत और जवान होती है।

न चाँद की चाहत, न तारों की फरमाइश,
हर पल में हो तू मेरे साथ बस यही है मेरी ख्वाइश।

दिल का हाल बताना नही आता,
हमे ऐसे किसी को तड़पाना नही आता,
सुनना तो चाहतें हैं हम उनकी आवाज़ को,
पर हमे कोई बात करने का बहाना नही आता।

ये तुमसे किसने कहा तुम इश्क का तमाशा करना,
अगर मोहब्बत करते हो हमसे तो बस हल्का सा इशारा करना।

एक तेरा दीदार मेरे सारे गमो को भुला देता है,
मेरी जिंदगी को जिंदगी बना देता है।

उस नज़र की तरफ मत देखो
जो तुम्हे देखना से इनकार करती है
दुनिया की इस महफ़िल में उस नज़र को देखो
जो आपका इंतज़ार करती है।

कितनी मोहब्बत है तुमसे बता नहीं सकते, बस इतना जानते हैं के तेरे बिना रह नहीं सकते

चॉकलेट से भी मीठे हैं आपके होंठ, इज़ाज़त दो तो टेस्ट करके देख लूँ

मेरे प्यार की हद हम नहीं जानते, बस जीना छोड़ सकते हैं तुम्हे नहीं

न कॉफ़ी लेते हैं, न चाय लेते हैं तेरे इश्क़ के मुरीद हैं सुबह उठते ही तेरा नाम लेते हैं

आँखों में नशा है होठों पे मज़ा है इसी लिए तो ये दिल तुझपर फ़िदा है

बिना जिस्म छुए तेरी रूह से लिपट जाऊं ऐसा है मेरा इश्क़

न जिद है न कोई गुरूर है हमे,
बस तुम्हे पाने का सुरूर है हमे,
इश्क गुनाह है तो गलती की हमने,
सजा जो भी हो मंजूर है हमे।

आज मुझे ये बताने की इजाज़त दे दो,
आज मुझे ये शाम सजाने की इजाज़त दे दो,
अपने इश्क़ मे मुझे क़ैद कर लो,
आज जान तुम पर लूटाने की इजाज़त दे दो.

किसी से प्यार करो तो इतना करो कि वो,
आपको छोड़ के जाए तो किसी का हो न पाए।

अरमान कोई सीने में आग लगा देता है,
एक ख्वाब आकर रातों को नींद उड़ा देता है,
पूछता हूँ जिस से भी मंजिल का पता मैं,
हर कोई रस्ता तेरे घर का बता देता है।

उतर जाते है कुछ लोग दिल में इस कदर,
जिनको दिल से निकालो तो जान निकल जाती है।

तुम मुझे एक मौका तो दो ऐतबार बनाने का,
थक जाओगे मेरी वफाओं के साथ चलते चलते।

जब ख्याल तेरा मेरे दिल में आता रहा,
तो बहुत देर तक मेरा दिल जोर से धड़कता रहा,
जो तेरा जिक्र कल मेरे घर में छिड़ गया,
तो बहुत देर तक मेरा घर महकता रहा।

हर कदम हर पल हम आपके साथ है,
भले ही आपसे दूर सही, लेकिन आपके पास हैं,
जिंदगी में हम कभी आपके हो या न हों,
लेकिन हमे आपकी कमी का हर पल एहसास हैं।

ये हमारी मोहब्बत है या कुछ और ये तो पता नही,
लेकिन जो तुमसे है, वो किसी और से नही।

तुझे देख कर ये जहाँ रंगीन नजर आता है,
तेरे बिना दिल को चैन कहां आता है,
तू ही है मेरे इस दिल की धड़कन,
तेरे बिना ये जहां बेकार नज़र आता है।

इश्क करती हूँ तुझसे अपनी जिंदगी से ज्यादा,
मैं डरतीं हूँ मौत से नही तेरी जुदाई से ज्यादा,
चाहे तो हमे आज़मा कर देख किसी और से ज्यादा,
मेरी जिंदगी में कुछ नही तेरी आवाज़ से ज्यादा।

हर पल मोहब्बत करने का वादा है आपसे,
हर पल साथ निभाने का वादा है आपसे,
कभी ये मत समझ न हम आपको भूल जायेंगे,
जिंदगी भर साथ चलने का वादा है आपसे।

हमारी चाहत है तुझे अपना बनाने की,
हमने तो ज़रूरत की है तुझसे दिल लगाने की,
अब तू हमे चाहे या न चाहे,
लेकिन हमारी तो हसरत है तुझ पर मर मिट जाने की।

ऐ काश कोई खुशियों की दुकान होती,
और मुझे उसकी पहचान होती,
खरीद लेता आपके लिए हर एक ख़ुशी,
चाहे उसकी कीमत मेरी जान होती।

दोस्त पूछते हैं की मैंने तुझमे ऐसा क्या देखा मैंने कहा .. तुझे देखने के बाद कुछ और देखा ही नहीं

ऐसे ही समय समय पर प्यार की दवाई दिया करो, हमें आदत है हर रोज़ प्यार में बीमार होने की

क्यों न सोने से पहले कुछ मीठा हो जाए

लेकर अपनी बाहों में तेरा होना चाहते हैं, तेरे होठों को अपने होठों से धीरे से छूना चाहते हैं

सुबह उठते ही आई मेरे जिस्म से तेरी खुशबू, शायद सपने में तूने मुझे सीने से लगाया होगा

जो रहते हैं दिल में वो जुदा नहीं होते,
कुछ एहसास लफ़्ज़ों से बयां नहीं होते,
एक हसरत है कि उनको मनाये कभी,
एक वो हैं कि कभी खफा नहीं होते।

वो अच्छे हैं तो बेहतर,
बुरे हैं तो भी कबूल,
मिजाज़-ए-इश्क में ऐब-ओ-हुनर
देखे नहीं जाते।

इसी कश्मकश का नाम मोहब्बत हैं,
आँखों में समंदर हो फिर भी प्यास रहती हैं।

​खयालों में ​उसके मैंने बिता दी ज़िंदगी सारी,
​​इबादत कर नहीं पाया खुदा नाराज़ मत होना​।

ख़ाक उड़ती है रात भर मुझमें,
कौन फिरता है दर-ब-दर मुझमें,
मुझ को मुझमें जगह नहीं मिलती,
कोई मौजूद है इस क़दर मुझमें।

हकीकत कहो तो उन्हें ख्वाब लगता है,
शिकवा करो तो उन्हें मज़ाक लगता है,
कितनी शिद्दत से हम उन्हें याद करते हैं,
और एक वो हैं जिन्हें ये सब मजाक लगता है।

तेरी झील सी आँखों में डूब जाने का दिल चाहता है,
वफ़ा पर तेरी बर्बाद हो जाने का दिल चाहता है,
कोई सम्भाले हमे, बहक रहे हैं कदम,
तेरे इश्क में मर जाने का दिल चाहता है।

वो पूँछतें हैं की हमे क्या हुआ है,
अब हम उनसे कैसे कहे उनसे इश्क हुआ है।

अब हम न तुम्हे खोना चाहते हैं,
अब न तुम्हारी यादों में रोना चाहतें हैं,
बस तुम्हारा साथ मिले हमे हर पल,
अब बस इतनी सी बात तुमसे कहना चाहते हैं।

काश के तुम मुझसे पूछते तुम मेरे क्या लगते हो और मैं तुम्हें गले लगाऊं और कहूँ के सब कुछ

तेरा ख्याल और तेरी खुशबू सता रही है दिल को, ये जो करार दिल मैं है कहीं मोहब्बत तो नहीं

कितना प्यार है तुझसे इन लफ़्ज़ों में बता नहीं सकता, बस महसूस कर मेरे प्यार को, गवाही कहीं से ला नहीं सकताF2 Line

तेरे इश्क़ में है मेरी बंदगी, मुझे कुछ और खबर नहीं, तुझे देखने के बाद कहीं और देखूं, मेरे पास ऐसी नज़र नहीं.

पुछा था मैंने आज मीठे में क्या है, शरमा कर उसने ऊँगली लबों पर रख दी

अपने दिल की चिंगारियां जरा जला कर तो देख,
जबां धड़कनो को सज़ा कर तो देख,
तुझे हो न जाये कहीं हमसे ही इश्क,
ज़रा अपनी नज़रे हमसे मिला कर तो देख।

उनके साथ रहते रहते उनसे चाहत सी हो गई,
उनसे बात करते करते एक आदत सी हो गई,
एक पल वो हमे न मिले तो दिल बेचैन हो जाता है,
उनसे दोस्ती निभाते निभाते उनसे मोहब्बत सी हो गई।

इश्क करो तो मुस्कुरा कर,
किसी को धोखा न दो अपना बना कर,
करलो याद जब तक जिन्दा हैं,
फिर न कहना चले गये दिल में यादे बसा कर।

हमारी गलतियों से कभी टूट मत जाना,
हमारी शरारत से रू ठ मत जाना,
आपकी चाहत ही हमारी जिंदगी है,
जिंदगी में कभी हमे भूल मत जाना।

तेरे दिए हुए जख्म धीरे धीरे भर जायेंगे,
बस तू जमाने से जिक्र न करना,
बहुत शुक्रिया है तेरा दर्द देने के लिये,
बस तू मेरी फ़िक्र न करना।

तबियत भी ठीक थी, दिल भी बेक़रार न था,
ये उन दिनों बात है, जब किसी से प्यार न था।

ये दरिया-ए-इश्क है कदम जरा सोच के रखना,
इस में उतर कर किसी को किनारा नहीं मिला।

तेरे चेहरे पर मेरा ही नूर होगा,
फिर न कभी तू मुझसे दूर होगा,
सोच रहे है उस दिन क्या ख़ुशी होगी,
जिस दिन तेरी मांग में मेरे नाम का सिन्दूर होगा।

सांसो का पिंजरा किसी दिन टूट जायेगा
ये मुसाफिर किसी राह में छूट जायेगा
अभी ज़िन्दा हु तो बात कर लिया करो
क्या पता कब हम से खुदा रूठ जायेगा।

जब खामोश निगाहों से बात होती है,
तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है,
हमतो बस खोये ही रहतें हैं उनके ख्यालों में,
पता ही नही चलता कब दिन कब रात होती है।

तू तोड़ दे वो कसम जो तूने खाई है,
कभी कभी याद करने में क्या बुराई है,
तुझे याद किये बिना रहा भी तो नही जाता,
तूने दिल में जगह जो ऐसी बनाई है।

बचाओ लाख दिल को लेकिन मोहब्बत हो ही जाती है,
निगाहे तो आखिर निगाहे हैं ये शरारत हो ही जाती है।

अपनी मोहब्बत में बस इतना सा उसूल है,
जब तू कुबूल है तो तेरा सब कुछ कुबूल है।

मैं तेरा पिल्लो तू मेरी रजाई I Love You o मेरी रसमलाई

प्यार में झुकना कोई बड़ी बात नहीं, सूरज डूब जाता है चाँद के लिए

बात सिर्फ इतनी है अच्छा नहीं लगता तेरे सिवा किसी से बात करना

तेरी आवाज़ की कशिश एक तरफ, हज़्ज़ारों सुरों का संगीत एक तरफ

मुझे नशा करने की क्या है जरूरत, तुम्हारे होंठ ही काफी हैं नशे के लिए

बस यही सोच कर तुम पे यकीन कर लिया, कि इतने हसीं होठों से कहाँ झूठ बोलोगे

अपनी जिंदगी में हमने तेरी जरूरत देखी है,
तेरी आँखों में हमने अपने लिए मोहब्बत देखी है,
जितनी बार खुद को भी नही देखा होगा,
उतनी बार हमने तेरी सूरत देखी है।

इश्क में गुलाब का फूल,
आप जरा इसे करलो कबूल,
वैसे तो जिंदगी ने दिए है बहुत से गम,
अगर आप मिल जाओ तो सारे गम जाऊंगा मैं भूल।

जो कोई सोच भी न सके वो बात है हम,
जो ढल के नई सुबह लाये वो रात है हम,
अक्सर लोग रिश्ते बना कर छोड़ दिया करते है,
जो जिंदगी भर साथ निभाए वो साथ है हम।

हमे फिर सुहाना नज़ारा मिला है,
क्योंकि जिंदगी में साथ तुम्हारा मिला है,
अब जिंदगी में कोई ख्वाइश नही रही,
क्योंकि हमे अब तुम्हारी बाहों का सहारा मिला है।

हमारी आँखों में तुम हो दिल में तुम्हारी तस्वीर है,
तुम्हारे लिए दिल तो क्या जान भी हाजिर है।

दिल की महफ़िल में बुलाया है किसी ने,
खुद बुला कर फिर सताया है किसी ने,
जब तक जली शमां मचलता रहा परवाना,
क्या इस तरह साथ निभाया है किसी ने?

इंतजार, इज़हार, इबादत सब तो किया मैंने,
और कैसे बताऊँ कि प्यार की गहराई क्या है?

बड़ी अजीब सी बंदिश है उसकी मोहब्बत में,
न वो खुद क़ैद कर सके न हम आज़ाद हो सके।

यूँ भी तो राज़ खुल ही जायेगा,
एक दिन हमारी मोहब्बत का,
महफिल में जो हमको छोड़ कर,
सब को सलाम करते हो।

इश्क सभी को जीना सीखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,
इश्क नही किया तो करके देखना,
ज़ालिम हर दर्द सहना सिखा देता है।

जिंदगी एक लहर थी फिर आप हासिल हुए,
न जाने कैसे हम आपके काबिल हुए,
न भूल पाएंगे कभी उस हंसी पल को,
जब आप हमारी जिंदगी में शामिल हुए।

कभी करते है ज़िंदगी की तमन्ना
तो कभी मौत का इंतज़ार करते है
वो हमसे क्यों दूर है पता नहीं
जिन्हे हम ज़िंदगी से भी ज़्यादा प्यार करते है।

दिल में जो कुछ होता है वो कहा नही जाता,
अब दर्द-ए-जुदाई सहा नही जाता,
हो सके तो लौट आओ किसी बहाने से,
अब मुझसे तुम्हारे बिन रहा नही जाता।

आपकी परछाई हमारे दिल में है,
आपकी यादें हमारी आँखों में हैं,
आपको हम भुलाएं भी कैसे,
आपकी मोहब्बत हमारी सांसो में हैं।

दिल करता है तुझसे लिपटकर बताऊं कि कितना दर्द होता है दूर रहकर जीने में

मेरी जान तुझमे इतनी मिठास है के तेरे आगे Dairy Milk भी बकवास है

सामने बैठे रहते हो तो दिल को करार आता है जितना तुम्हें देखते हैं उतना प्यार आता है

देखो तो क्या शान है हमारी, एक प्यारी से लड़की जान है हमारी

चलो न एक काम करते हैं, एक दो नहीं तीन बार कबूल है पढ़ते हैं.

तेरा नाम ही क्यों ये दिल रटता है,
क्यों ये दिल सिर्फ तुझ पे ही मरता है,
न जाने कितना नशा है तेरे इश्क में,
अब तो तेरी याद में ही ये दिन कटता है।

न जाने कैसा ये तीर जिगर के पार हुआ,
न जाने क्यों ये दिल बेकरार हुआ,
तू कभी मेरे सामने तो आया नही,
फिर भी न जाने क्यों तुझसे इतना मुझे प्यार हुआ।

मैंने तो सिर्फ तुझ से मोहब्बत करने की दुआ मांगी है,
मैंने तो हर दुआ में सिर्फ तेरी वफ़ा मांगी है,
ये ज़माना लाख जले हमारी मोहब्बत से,
मैंने तो सिर्फ तुझसे मोहब्बत करने की सजा मांगी है।

मोहब्बत तो जीने का नाम है,
मोहब्बत तो यूँ ही बदनाम है,
एक बार मोहब्बत करके तो देखो,
मोहब्बत हर दर्द पीने का नाम है।

दर्द महसूस करना है तो ये दिल लगा के देखो,
इन निगाहों में किसी को बसा के तो देखो,
उनके छोटे से दर्द को भी तुम सह न पाओगे,
एक बार इश्क के दरिया में नहा के तो देखो।

दावे मोहब्बत के मुझे नहीं आते सनम,
एक जान है जब दिल चाहे माँग लेना।

बच जाए जवानी में जो इश्क की हवा से,
होता है फ़रिश्ता कोई इंसान नहीं होता।

जब खामोश आँखों से बात होती है
ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है
तुम्हारे ही ख्यालों में खोये रहते हैं
पता नहीं कब दिन और कब रात होती है।

दिल के कोने से एक आवाज़ आती है
हमें हर पल उनकी याद आती है
दिल पूछता है बार – बार हमसे
के जितना हम याद करते है उन्हें
क्या उन्हें भी हमारी याद आती है।

न जाने क्यों वो हमसे मुस्कुरा कर मिलते हैं,
अंदर के सारे गम छुपा कर मिलते हैं,
वो जानते हैं शायद नजरे सच बोलती हैं,
इसलिये वो हमसे नजरे झुका कर मिलते हैं।

इन दूरियों को जुदाई मत समझना
इन खामोशियो को नाराजगी मत समझना
हर हाल में साथ देंगे आपका
ज़िंदगी ने साथ न दिया तो बेवफाई मत समझना।

मोहब्बत तो जीने का नाम है,
मोहब्बत तो यूँ ही बदनाम है,
एक बार मोहब्बत कर के तो देखो,
मोहब्बत हर दर्द पिने का नाम है।

मुस्कराहट का कोई मोल नहीं होता,
कुछ रिश्तो का कोई तोल नहीं होता,
वैसे लोग तो मिल जाते है हर मोड़ पर,
पर कोई आप की तरह अनमोल नहीं होता।

सुनो तुमसे एक बात कहनी थी… I Love You

या अल्लाह सलामत रहे वो मौलवी जो हमारा निकाह पढ़ायेगा

हम तुझे याद करते है रात की तन्हाई में,
दिल डूबता है दर्द की गहराई में,
हमे मत ढूंढना इस जमाने की भीड़ में,
क्योंकि हम मिलेंगे तुझे तेरी ही परछाई में।

हम आपकी हर चीज़ से प्यार कर लेंगे,
आपकी हर बात पर ऐतबार कर लेंगे,
बस एक बार कह दो कि तुम सिर्फ मेरे हो,
हम ज़िन्दगी भर आपका इंतज़ार कर लेंगे।

उसको पाने का कहाँ सोचा था,
अच्छा लगा सो मोहब्बत कर ली।

चाहत हुई किसी से तो फिर बेइन्तेहाँ हुई,
चाहा तो चाहतों की हद से गुजर गए,
हमने खुदा से कुछ भी न माँगा मगर उसे,
माँगा तो सिसकियों की भी हद से गुजर गये।

फूल खिलतें हैं बहारों का समा होता है,
ऐसे मौसम में ही तो प्यार जमा होता है,
दिल की बातें होठों से नही कहते हैं,
ये फ़साना तो निगाहों से बयां होता है।

कुछ रिश्तों की चमक नहीं जाती,
कूछ यादों की कसक नहीं जातीं,
कुछ दोस्तों से होता है ऐसा रिश्ता,
के दूर रह कर भी उनकी महक नहीं जाती।


जाने कब आपसे प्यार का इज़हार होगा,
जाने कब आपको हमसे प्यार जोगा,
गुजर रही हैं आपकी ही याद में ये रातें,
जाने कब आपको भी हमारा इंतज़ार होगा।

जाम पर जाम पीने से क्या फायदा,
शाम को पीके सुबह को उतर जाएगी,
जरा दो घूट मेरे इश्क की पी कर तो देख,
तेरी सारी जिंदगी नशे में गुजर जायेगी।

ज़िंदगी लहर थी आप साहिल हुए,
ना जाने कैसे हम आपके काबिल हुए,
ना भुला पाएंगे हम उस हसीं पल को,
जब आप हमारी ज़िंदगी में शामिल हुए।

अपनी मोहब्बत पे फक़त इतना भरोसा है मुझे,
मेरी वफायें तुझे किसी और का होने न देंगी।

टपकती है निगाहों से बरसती है अदाओं से,
मोहब्बत कौन कहता है कि पहचानी नहीं जाती।

तुम्हें नींद नहीं आती तो कोई और वजह होगी,
अब हर ऐब के लिए कसूरवार इश्क तो नहीं।

ना जाने मोहब्बत में कितने अफसाने बन जाते हैं,
शमां जिसको जलाती है वो परवाने बन जाते हैं,
कुछ हासिल करना ही प्यार की मंजिल नहीं होती,
किसी को खोकर भी कुछ लोग दीवाने बन जाते हैं।

फिर से हो रही थी मुझे मोहब्बत उससे,
न खुलती आँख तो वो मेरा हो चुका होता।

उस शख्स को बिछड़ने का सलीका नहीं आता,
जाते जाते खुद को मेरे पास छोड़ गया।

हर लम्हा तेरी याद का पैगाम दे रहा है,
अब तो तेरा इश्क मेरी जान ले रहा है।

अकेले हम ही शामिल नहीं हैं इस जुर्म में,
नजर जब मिली थी मुस्कराये तुम भी थे।

दुनिया तेरे वजूद को करती रही तलाश,
हमने तेरे ख्याल को दुनिया बना लिया।

मेरे घर की दर-ओ-दीवार पर अब आइना नहीं,
तेरी आँखों में ही खुद को पा लिया मैंने।

तेरी मोहब्बत ने हमे बेनाम कर दिया,
हर ख़ुशी से हमे अंजान कर दिया,
हमने तो नही चाहा था हमे भी मोहब्बत हो,
लेकिन तेरी पहली नज़र ने मुझे नीलाम कर दिया।

तेरी मोहब्बत का ये कितना खूबसूरत एहसास है,
अब तो मुझे लगता है हर पल की तू मेरे कहीँ आस पास है।

हम आपकी हर चीज़ से प्यार कर लेंगे,
आपकी हर बात पर ऐतबार कर लेंगे,
बस एक बार कह दो कि तुम सिर्फ मेरे हो,
हम ज़िन्दगी भर आपका इंतज़ार कर लेंगे।

अगर इश्क करो तो आदाब-ए-वफ़ा भी सीखो,
ये चंद दिन की बेकरारी मोहब्बत नहीं होती।

जागने की भी, जगाने की भी, आदत हो जाए,
काश तुझको किसी शायर से मोहब्बत हो जाए।

Leave a Comment